शुक्रवार, नवंबर 25, 2011

यह भी हमारी ही बेटियाँ है........


 फूलों को हमने हँसते देखा 
 और कलियों को मुस्काते |
 चंचल लहरों को भी देखा ,
 सागर में हरदम  मौज  उड़ाते |
 माना दुःख  से इनका  रिश्ता ,
 मगर ख़ुशी से परिचय भी है |
 थोड़ा सा  सुख दे कर देखो 
 तुम इनका यह चेहरा भी |
 जिसे देख कर लगेगा तुमको ,
 यह जानते हैं हँसना भी |  



आज एक  पूर्व प्रकाशित रचना मेरी पसंद से ..................

(चित्र गूगल के सौंजन्य से   

40 टिप्‍पणियां:

  1. इंसानियत के रिश्ते परस्पर मुस्कान से ही प्रफुल्लित होते हैं. बहुत सुंदर भावों से भरी कविता.

    उत्तर देंहटाएं
  2. चाहे किसी भी तरह की परिस्थिति हो, उसमें हँसने वाला ही तो सच्चा इंसान होता है॥

    उत्तर देंहटाएं
  3. khusiya batne se hi to khusiya badhati
    kyonki ek hasate chehare ke sath kai hasate chehare jud jate hai....
    bahut hi gahare bhav liye bahut hi sundar rachana hai...

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर भाव,सुंदर कविता

    उत्तर देंहटाएं
  5. थोड़ा सा सुख दे कर देखो
    तुम इनका यह चेहरा भी |
    जिसे देख कर लगेगा तुमको ,
    यह जानते हैं हँसना भी |
    Bahut sundar!

    उत्तर देंहटाएं
  6. ये नन्ही सी कलियाँ हँसना मुस्काना जानती हैं बस थोडा सा प्यार और सुख देकर देखो... बहुत सुन्दर भाव

    उत्तर देंहटाएं
  7. अरे सुनील जी किनसे सुख देने को कह रहे हैं आप! कुछ देने को हो बेचारों के पास तब तो दें..और देने से कोई फायदा भी तो नहीं न होता इनका
    रही बात इन अबोधों की तो इनके पास कुछ न होकर भी सबकुछ है..आज भी इतने ग़मों में खुलकर हँसना जानते हैं यह कम है क्या!!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत ही सुन्दर विचार हैं ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुनीलजी,
    भावपूर्ण खुबशुरत सुंदर रचना,
    बेहतरीन पोस्ट,पढकर मन को सकूंन मिला,
    मेरे नये पोस्ट पर आइये,...

    उत्तर देंहटाएं
  10. माना दुःख से इनका रिश्ता ,
    मगर ख़ुशी से परिचय भी है |
    थोड़ा सा सुख दे कर देखो
    तुम इनका यह चेहरा भी |

    अच्छी लगी ये पंक्तियाँ

    उत्तर देंहटाएं
  11. थोड़ा सा सुख दे कर देखो
    तुम इनका यह चेहरा भी |
    जिसे देख कर लगेगा तुमको ,
    यह जानते हैं हँसना भी |

    bahut sundar.

    उत्तर देंहटाएं
  12. बेमिसाल शब्द और लाजवाब भाव...उत्कृष्ट रचना

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत रोचक और सुंदर प्रस्तुति.। मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत सुन्दर रचना ...प्रेरणादाई भाव
    बहत बहुत आभार

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुन्दर रचना, भावपूर्ण अभिव्यक्ति।

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत उम्दा रचना..भावपूर्ण अभिव्यक्ति!!

    उत्तर देंहटाएं
  17. सब के मन-आंगन में खुशियों के फूल खिलें।
    अच्छी रचना।

    उत्तर देंहटाएं
  18. दिल को छोने वाले रचना है जो बड़े सरल शब्दों में लिखी गयी हैं.

    उत्तर देंहटाएं