मंगलवार, अप्रैल 05, 2011

ब्लाग जगत में मेरी पहली वर्षगांठ



यह एक साल  यूँ बीत गया कुछ पता ही नहीं चला | एक मशीन की तरह 
सुबह पोस्ट देखना , कुछ टिपण्णी करना और  कुछ को कॉपी - पेस्ट में 
निपटा देना | ( मुझे भी तो कुछ टिपण्णी चाहिए )| इस एक साल मैंने आपके 
सामने जो भी कुछ परोसा वह  आपने एक  सभ्य अतिथि  की भांति ग्रहण किया |
 और  अच्छी लगी   , सुन्दर अभिव्यक्ति , उम्दा , दिल को छू गयी ,बहुत बढ़िया आदि 
कह कर आपने  मेरा हौसला बढाया | उसके लिए मै आपको धन्यवाद देता हूँ |
अब मेरा फर्ज  बनता है कि मै अपना रिपोर्ट कार्ड आपके सामने प्रस्तुत  करूँ |
तो यह  रहा मेरा रिपोर्ट कार्ड ........

 कुल प्रवष्टियां                                 ६५ 
 कुल अनुसरण कर्ता                      १०८ 
 कुल टिपण्णी                              १४४४  

न्यूनतम  टिपण्णी                      २   ( चलो कुछ तो मिलीं )
अधिकतम टिपण्णी                   ४७  ( अर्धशतक से चूके )


अब कुछ विशेष  ( मेरे लिए )

पहली अनुसरण  कर्ता                    Shikha Deepak
पहली टिपण्णी                             Shikha Deepak


 एक मात्र ब्लागर जिनसे मैं मिला 
    ( और किसी ने मौका ही नहीं दिया )

एक मुलाकात जाकिर अली रजनीश  से




वह तीन ब्लागर जिनसे फ़ोन पर बात हुई :

                             श्री    कुंवर कुसुमेश , विजय  माथुर, और  शिखादीपक 


बात जो दिल को छू गयी 


दीपक 'मशाल' ने कहा…आज मेरी बेटी का जन्म दिन है पर 

तकलीफ तब होती है जब सफलताओं के शिखर पर बैठी एक बेटी के लिए भी माँ-बाप कह देते हैं कि 'उसने तो बेटे की कमी पूरी कर दी' या 'वो तो बेटे से बढ़ के' या 'बेटा है मेरे लिए'.. जैसे संबोधन ही पाती है.. क्यों आखिर हमेशा तुलना बेटे से ही क्यों? क्या एक बेटी बेटी रह कर कमाल नहीं कर सकती? क्या हम उसे सिर्फ बेटी नहीं मान सकते जिसकी तुलना किसी बेटे से की जाने की जरूरत ही नहीं..
 दीपक 'मशाल' ने कहा…
ये धारणाएं भी अजीब होतीं हैं.. कोफ़्त होती है कभी-कभी खुद पर ही कि क्यों ऐसे समाज का हिस्सा हैं हम.. शिवांगी को शुभकामनाएं और आपको बधाई सर..

 वह जिन्होंने गुरु की भूमिका निभाई
राजेश उत्‍साही ने कहा…
अच्‍छी कोशिश। सुनील भाई अगर शब्‍दों के चयन और उनकी जगह पर थोड़ा सा और ध्‍यान दें तो आपकी कहन में पैनापन आ जाएगा।

उस्ताद जी ने कहा
शोहरत की धूल पर 
2/10
साधारण
डा.सुभाष राय ने कहा…
सुनील जी आप का व्यंग्य प्रयोग अच्छा है. थोडा और तीखपन लाने की जरूरत है. जुटे रहिये. नित-नित के अभ्यास से पैनापन बढ्ता जायेगा. शुभकामनायें.

वह  जिन्होंने  मुझे सराहा 

दर्शन कौर धनोए ने कहा…
सुनील कुमार जी ,आपके ब्लोक पर पहली बार आई हु --माता -पिता की तस्वीर देखकर मेरा दिल बहुत खुश हुआ --जो इन्सान माँ -बाप की इतनी इज्जत करता हे --वो यकीनन शानदार हे --अपना फ़्लोअर(दोस्त ) बनाना चाहुगी --धन्यवाद !

उस्ताद जी ने कहा…
जीवन का गणित पर 
6.5/10

एक उत्कृष्ट और मौलिक कविता
जीवन की विडम्बना और वेदना की विलक्षण अभिव्यक्ति
कविता समाप्त होते ही पाठक के मन में अकथनीय अनुभूति होती है.

                   अंत में अगर मै इसमें सफल हुआ हूँ तो एक कहावत के अनुसार 
                               हर सफल व्यक्ति के पीछे एक स्त्री होती है |


                                       मेरी धर्मपत्नी श्रीमती दीप्ति श्रीवास्तव
                   ( क्षमा  करें केवल पत्नी, क्योंकि धर्मबहन और धर्मभाई कभी सगे नहीं होते )

अगर असफल रहा हूँ तो !


                                      मै सुनील कुमार, मेरे कर्म और मेरा भाग्य !



  एक बार फिर मै आप सबका  आभार व्यक्त करना  चाहता हूँ वह पाठक जो जानबूझ कर या गलती से मेरे ब्लाग पर आये और टिपण्णी के रूप में अपना आशीर्वाद दिया |
                     



57 टिप्‍पणियां:

  1. आदरणीय सुनील जी
    ब्लॉग जगत में सफल एक वर्ष के लेखन पर आपको हार्दिक बधाई ...आशा है आप यूँ ही अनवरत प्रगति करते रहेंगे ...शुभकामनाओं सहित ..केवल राम

    उत्तर देंहटाएं
  2. sunil ji apke blog ki pahli saalgira mubarak ho... bhut bhut bdhaai ho...

    उत्तर देंहटाएं
  3. पहली वर्षगाँठ मुबारक. आपने बैलेंसशीट अच्छी तैयार की. शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपका ब्लॉग नियमित पढ़ता हूँ, ऐसे ही लिखते रहिये। शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  5. badhai, aapke warshganth par. kabhi mere yahan bhi padharen !

    उत्तर देंहटाएं
  6. vrshgaantrh mubark ho or yeh blogign ki duniyaa men aap ki shtabdi vrshgaanth bhi ho isi duaa ke sath aapka bhaai akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  7. वर्ष गांठ को मानाने और अपनी बात कहने का ये अंदाज अच्छा लगा आप को मेरी तरफ से शुभकामनाये |

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुनील जी,
    पहली वर्षगाँठ पर बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  9. पहली वर्षगाँठ पूरी होने की बधाई..ब्लॉगजगत में एक साल की उपलब्धि को विस्तार देने का अन्दाज़ बेहद खूबसूरत लगा..बहुत कुछ सीख कर जा रहे हैं...अमल करने की कोशिश करेंगे..

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुनील जी ,

    पहली वर्षगाँठ पर बहुत-बहुत हार्दिक बधाई ,,,शुभकामनायें स्वीकारें |

    आपकी लेखनी अबाध गति से चलती रहे ....

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुनील जी ,आपको कॉपी - पेस्ट नही ? आप मीठी कॉफ़ी के लायक है -- आप को पहली वर्षगाठ पर अनेक शुभ कामनाए --| धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  12. पहली वर्षगांठ पर हार्दिक बधाईयां ।
    कामना है दिनोंदिन आपकी लेखनी का पैनापन बढता रहे । शुभकामनाओं सहित...

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपने अपने ब्लॉग की पहली वर्षगांठ मन ली और वो भी बड़े धूमधाम से ...आपको बधाई हो ...और जैसा की रिपोर्ट कार्ड देखने से पता चलता है की अब आगे से टिपण्णी करने में भी सजग रहना होगा ......पुनः एक वर्ष पूरा करने पर बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  14. Apki varshgaanth par hardik badhai, ek aacha blog banana aur use saal bhar vicharniya bhaavnaaon se sajate rehna... ullekhniya kaarya hai.

    Aane vale kai varshon k liye shubh-kamnayain!

    उत्तर देंहटाएं
  15. ब्लॉग जगत में एक वर्ष पूर्ण होने और उपलब्धी के सुन्दर विस्तार के लिए आपको बहुत बहुत बधाई व आपकी लेखनी यूँ ही चलती रहे इसके लिए ढेरों शुभकामनायें .....

    उत्तर देंहटाएं
  16. वर्षगांठ पर बधाई-- टिप्पणियों का क्या अर्धशतक से चूके या शतक से... लेखन ज़रूरी है :)

    उत्तर देंहटाएं
  17. लेखन की प्रथम वर्षगांठ पर बहुत बहुत बधाईयां और शुभकामनाएं ।

    उत्तर देंहटाएं
  18. ब्लॉग जगत की पहली वर्षगांठ पूरी होने पे आपको बधाई
    तथा इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है.
    इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं ……

    उत्तर देंहटाएं
  19. बधाई हो सुनील भाई। आप तो सचमुच एकलव्‍य निकले। एकलव्‍य बिना बताए ही औरों से चुपचाप सीखते रहते हैं। आभारी हूं कि आपने मेरी एक टिप्‍पणी को इतनी आत्‍मीयता से लिया और मान दिया।
    *

    मेरा और आपका एक और ऐसा संबंध निकल आया,जिसकी वजह से सहज ही आत्‍मीयता हो जाती है। मेरे पिताजी भी रेल्‍वे में थे। और मां भी आपकी मां की तरह ही गृहणी जो सात बच्‍चों को संभालती थी।
    *

    ब्‍लाग जगत में एक साल पूरा करने के लिए बधाई और बहुत बहुत शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  20. आरुषी और शिवांगी की बनाईं सीनरी अच्‍छी हैं। मेरा सुझाव है उनसे कहें वे अपने आसपास के जीवन,दृश्‍यों और चीजों को चित्रित करने की कोशिश करें। सीनरी बच्‍चों को बांध देती है। उन्‍हें बहुत प्‍यार दें और शुभकामनाएं भी।

    उत्तर देंहटाएं
  21. चलिए, रिपोर्ट कार्ड अच्छी लगी..:)

    उत्तर देंहटाएं
  22. ब्लॉग जगत में एक साल पूरा करने के लिये बधाई और शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  23. आपके ब्लॉग पर नियमित रूप से आना होता है.... बधाइयाँ

    उत्तर देंहटाएं
  24. is varshganth ko aapne yaadgaar bana diya patni se parichay karate hue .... aapko badhaai aur aapki rachnaaon ke aakash ke liye shubhkamnayen

    उत्तर देंहटाएं
  25. सुनील भाई,सालगिरह मुबारक हो.
    कलम निरंतर लिखती रहे,दुआ है मेरी.

    अंत में,
    जो पुरुष पत्नी का धन्यावाद करता है,वह बहुत समझदार होता है.

    आशा है कि अगली सालगिरह पर दर्शन कौर जी की टिप्पणी की जगह मेरी टिप्पणी आप की पोस्ट पर होगी.

    उत्तर देंहटाएं
  26. ब्लॉग जगत में पहली वर्षगाँठ पर बहुत-बहुत शुभकामनायें |

    उत्तर देंहटाएं
  27. .

    आपकी उपलब्धियों पर आपको एवं दीप्ति जी को बधाई एवं शुभकामनायें। अत्यंत ही रोचक अंदाज में एक उम्दा प्रस्तुति । कोई नियमित आये या गलती से पहुँच जाए, जो दिल में जगह बना ले , वो कुछ तो ख़ास होते ही हैं।

    सस्नेह,
    दिव्या।

    .

    उत्तर देंहटाएं
  28. एक वर्ष में 65 प्रविष्ठियां बहुत होती है तथा लगभग डेड हजार टिप्पणियां ,यह आपकी लेखनशैली का प्रभाव है। जाकिर जी से आपकी मुलाकात हुई बहुत खुशी की बात है बहुत अच्छे बालकहानिया लंेखक है विज्ञान ब्लाग के भी संचालक है। राजेश जी ने मार्गदर्शन किया ,किया ही जाना चाहिये कोई भी अपने आप में सर्वगुण सम्पन्न नहीं होता है। यहा भी तो आप व्यंग्य लिखने से बाज नहीं आये धर्मपत्नि क्षमा करें केवल पत्नि ।लेखक और असफल यह क्या कह दिया आपने । सफल और असफल का दायरा क्या होता है। देखिये बन्धु... ये जीवन है , या तो पढने लायक कुछ लिख जाओ या लिखने लायक कुछ कर जाऔ। बहुत बहुत बधाई और ढेर सारी शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  29. बस आपसे ज़रा सा पीछे हैं हम भी.. शुभकामनाएं!! ऐसे अनेक वर्ष पूरे करें और सार्थक लेखन में साधनारत हों!!

    उत्तर देंहटाएं
  30. अरे वाह .....!
    एक वर्ष की इतनी अच्छी रिपोर्ट .....?
    ये भी तो अद्भुत कला है आपमें ...किसने कब क्या खा और उसे दिल से मानना ....
    इस बात के लिए तो राजेश जी और उस्ताद जी भी बधाई के पात्र हैं .....!!

    उत्तर देंहटाएं
  31. सुनील जी,
    ब्लॉगलेखन के एक वर्ष पूर्ण होने पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।
    आपकी लेखनी अबाध रूप से गतिशील रहे।

    उत्तर देंहटाएं
  32. sunil ji,
    bahut bahut badhai....
    kisi ne mouka hi nahi diya ka kya matlab hai?
    mai to hamesha apki rah dekhti thi aur manko samjaha leti ki shayed aap busy honge.....

    उत्तर देंहटाएं
  33. वर्षगांठ की हार्दिक बधाई.पोस्ट में आपकी विनम्रता की झलक है.

    उत्तर देंहटाएं
  34. मेरी तरफ से भी शुभकामनाएॅ। आगे भी आप इसी तरह से आगे बढ़ते रहे।

    उत्तर देंहटाएं
  35. सुनील जी,

    सफल ब्लाग लेखन के लिए ढेरो बधाईयां...उम्मीद करता हूँ कि आपका कारंवा यूं ही बढता चले! मै आपका तहे दिल से शुक्र गुज़ार हूँ कि आप आवारा की डायरी पर नियमित आतें है और अपने कमेंट्स भी देतें है जो मेरे लिए एक प्रेरणा का काम करते है वैसे आपको पता ही होगा कि पिछले तीन सालो से नियमित ब्लाग लेखन करने के बावजूद भी मै कमेंट्स के मामले मे एकदम निर्धन किस्म का हूँ जिसमे एक वजह मेरी कमअक्ल भी है और कुछ बाकी अपनी अपनी पसंद का मसला है...

    सादर आभार
    डा.अजीत

    उत्तर देंहटाएं
  36. आपकी ब्लॉग लेखन की सफल यात्रा यूं ही अनवरत जारी रहे. शुभकामना.

    उत्तर देंहटाएं
  37. Sunil jee, dher sara badhai...postcard ki safgoi bahut achchhi lagi ..shubhkamna

    उत्तर देंहटाएं
  38. बधाई ... आपका ये अंदाज़ भी अच्छा लगा ...

    उत्तर देंहटाएं
  39. अच्छा लगा आपका अन्दाज एक साल का लेखा-जोखा प्रस्तुत करने का.
    बहुत बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  40. बधाई सुनील भाई !
    आपकी इस रिपोर्ट ने दिल जीत लिया , सरलता और ईमानदारी के साथ साथ आपका आत्मविश्वास साफ़ साफ़ झलक रहा है ! यह विनम्रता और अपनापन के साथ आप लोगों के दिलों में स्थान बनाने में सफल होंगे ऐसा मेरा विश्वास है !!
    हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  41. आप अपने निजी जीवन में और ब्लॉग जगत में भी और उन्नति करें यही मनोकामना है ... आपके इस पोस्ट से मैं बहुत कुछ सीखा हूँ ... क्या सीखा हूँ यह फिर कभी बताऊंगा ...
    मेरी शुभकामनायें आपको और आपके परिवार को ...

    उत्तर देंहटाएं
  42. पहली वर्षगांठ पर हार्दिक बधाई और शुभकामनायें ....

    उत्तर देंहटाएं
  43. Sunil ji..... Congratulations on your this achievement. Your blog is really readable.

    उत्तर देंहटाएं
  44. खुद का आकलन करती यह पोस्ट बहुत अच्छी लगी। कमेंट भी अच्छे। देर से ही मेरी बधाई स्वीकार करें।

    उत्तर देंहटाएं
  45. hardik shubhkamnayen aapke blog ki pehli varshgaanth par.....bhagwan se prarthana karte hain ki aapka blog isi tarah unnati karta rahe..:).with lots of best wishes n luck.....

    उत्तर देंहटाएं
  46. sunil ji, bahut bahut badhai ho aapko apne blog k pehle varsh ki safalta pe....aapka apna report card pesh karna aur apna itna imaandari k sath akalan karna joki yeh darshata hai ki aapne kitni bareeki k sath har comment pe dhyaan diya hai baht achha laga....vakayi aapka samarpan aur utsah is blog k prati ise kuch khaas banata hai....bhagwan kare aapka blog isi prakar din dooni raat chauguni tarakki kare...aur hume yun hi behatareen kritiyan padhne ko milen..:)...aur comments ardhshatak kya shatak poore karein...all the very best:)

    उत्तर देंहटाएं
  47. आदरणीय सुनील जी
    पहली वर्षगांठ पर हार्दिक बधाई और शुभकामनायें ....

    उत्तर देंहटाएं
  48. बहुत देर से पहुँच पाया ....माफी चाहता हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  49. It is a beginning rather than an end .
    "sitaaron se aage jahaan aur bhi hain ,
    tere saamne imtihaan aur bhi hain "
    likhne se likhte rahne se lekhan me nikhaar aataa jaataa hai ,jaankaari badhti hai ,aur sabse badhke -ALZIEHMER DISEASE nahin hoti .
    veerubhai .

    उत्तर देंहटाएं