सोमवार, दिसंबर 27, 2010

नये साल के दो रंग


                          
                                 पहला रंग 


चलो कुछ दिन बाद  एक नया साल फिर आने वाला है |
 और अपने साथ खुशियाँ ही खुशियाँ लाने वाला है |
नये साल में तो  बास की सीट भी खाली हो जाएगी |
सीनियर तो मैं ही हूँ,बस मुझको ही  मिल जाएगी |
 तंगी से जूझते गुप्ता जी की पैसे की  समस्या हल हो जाएगी|
क्योंकि अलमारी में पड़ी एन एस सी भी मैच्योर हो जाएगी |
अगले साल बेटे की पोस्टिंग भी अपने शहर में हो जाएगी |
और बेटी की शादी भी से किसी अफसर से हो जायगी |
गैराज में खड़ी होंडा सिटी अब आउट डेटऐड   हो जाएगी | 
अगले साल तो पाण्डेय जी की  नई बी ऍम डब्लू  आयगी |
  
                  दूसरा रंग 

 चलो कुछ दिनों बाद एक नया साल फिर आएगा 
 और अपने साथ साथ फिर वही समस्याएँ लायेगा |
एक बार फिर पत्नी बच्ची की नई फ्राक के लिए चिल्लाएगी 
क्योंकि छुटकी की छलनी हुई फ्राक कुछ और छोटी हो जाएगी |
 बड़की की बढती हुई उम्र अब  एक साल और बढ जाएगी |
शादी का इंतजार करते करते अब तो वह बूढी कहलाएगी |
बेरोजगार बेटे की टूटी हुई चप्पल फिर उसका मुंह चिडाएगी |
अगले साल तो उसकी नौकरी की उम्र ही निकल जाएगी |
अगले साल तो  महंगाई कुछ और ज्यादा ही बढ़ जाएगी 
दूध की ख़ाली बोतल मेरी बच्ची का मुंह फिर चिडाएगी |
एक रूपए की टॉफी खरीदना एक बड़ी बात बन जाएगी |
 मेरी बेटी नंगे फर्श  पर अंगूठा चूसते चूसते  ही सो जाएगी |



यह मेरी २०१० की अंतिम पोस्ट है| क्योंकि नया साल मेरे लिए बहुत  अच्छा 
होगा इस बात का भ्रम पाले हुए यह भ्रमित आदमी भ्रमण पर जा रहा है|
इस भ्रमण काल  में मै २९-१२-२-१० को कानपुर,३०-१२ -२०१० से ०१-०१२०११ 
लखनऊ ,०२-०१ -२०११  काठगोदाम ,पन्तनगर (उधमसिंह नगर ),०५-०१ -२०११ 
से  ०९-०१-२०११ दिल्ली में रह कर, लौट कर बुद्धू घर को आये की  कहावत  को चरितार्थ 
करते  हुए १०-०१ -२०११ को हैदराबाद आऊंगा|



   आप  सभी को नव वर्ष मंगलमय हो 



30 टिप्‍पणियां:

  1. अलग-अलग परिस्थति अलग-अलग उम्मीदें...

    उत्तर देंहटाएं
  2. आदरणीय सुनील कुमार जी
    नमस्कार
    दोनों रंग बहुत बेहतर हैं ...बहुत बहुत आभार

    उत्तर देंहटाएं
  3. ... har rang ki apanee-apanee alag-alag tasveer hai ... sundar bhaavpoorn abhivyakti !!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुंदर प्रस्तुति.यात्रा मंगलमय हो. .नूतन वर्ष २०११ की हार्दिक शुभकामनाएं ...
    फर्स्ट टेक ऑफ ओवर सुनामी : एक सच्चे हीरो की कहानी

    उत्तर देंहटाएं
  5. अलग अलग रंगो की छटा बिखेरती खूबसूरत प्रस्तुति. आभार.
    सादर,
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुनील जी! क्या अजब रंग दिखाए हैं आपने नए साल के... अपने पड़ोस की बात सी लगती है..
    शुभकानाएँ, नए साल की और एक नूतन दशाब्दि की!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. बरेली क्यो छूट गया आपके यात्रा शेडुयल में

    उत्तर देंहटाएं
  8. जीवन के दो पक्ष। आपका नया वर्ष मंगलमय हो।

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुनील जी,
    नए वर्ष पर आपकी पहली कविता जहाँ नए वर्ष के सपनों में आशाओं के रंग भरती हुई दिखती है वहीँ दूसरी कविता आम आदमी के जीवन की सच्चाई को बड़े ही मार्मिक ढंग से प्रस्तुत करती है !
    दोनों ही रचनाएं आपकी गहरी, संवेदनशील सृजनात्मकता का प्रतिनिधित्व करती हैं !
    एक बार और आभार,
    -ज्ञानचंद मर्मज्ञ

    उत्तर देंहटाएं
  10. दोनो पक्ष बहुत ही अच्‍छे लगे ...नववर्ष की शुभकामनाओ के साथ ...बधाई ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. दोनो ही रंग अपनी कहानी कह रहे हैं…………नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  12. प्रिय बंधुवर सुनील कुमार जी
    नमस्कार !
    नये साल के दो रंग प्रस्तुत करती आपकी रचनाएं पसंद आईं । आभार !


    ~*~नव वर्ष २०११ के लिए हार्दिक मंगलकामनाएं !~*~

    शुभकामनाओं सहित
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  13. नए साल पर दोनों कविताओं में विरोधाभाषी चित्रों की प्रस्तुति अच्छी लगी

    Wish u a very very happy new year.

    उत्तर देंहटाएं
  14. kavita ke dono pahalu achhe lage.......
    naye varsh ki apkobhi anek shubh kamnaye...........

    उत्तर देंहटाएं
  15. ज़िंदगी के दो विरोधी रंगों को बहुत सुंदरता से आपने शब्दों में पिरोया है।

    उत्तर देंहटाएं
  16. जीवन के दो रंग-दोनों ही यथार्थ. बहुत सुन्दर प्रस्तुति..नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं..

    उत्तर देंहटाएं
  17. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  18. नव वर्ष 2011
    आपके एवं आपके परिवार के लिए
    सुखकर, समृद्धिशाली एवं
    मंगलकारी हो...
    ।।शुभकामनाएं।।

    उत्तर देंहटाएं
  19. आपको सीनियर की पोस्ट के लिए अग्रिम बधाई ....
    नववर्ष की शुभकामनाएं ......!!

    उत्तर देंहटाएं
  20. अनगिन आशीषों के आलोकवृ्त में
    तय हो सफ़र इस नए बरस का
    प्रभु के अनुग्रह के परिमल से
    सुवासित हो हर पल जीवन का
    मंगलमय कल्याणकारी नव वर्ष
    करे आशीष वृ्ष्टि सुख समृद्धि
    शांति उल्लास की
    आप पर और आपके प्रियजनो पर.

    आप को सपरिवार नव वर्ष २०११ की ढेरों शुभकामनाएं.
    सादर,
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  21. 2011 का आगामी नूतन वर्ष आपके लिये शुभ और मंगलमय हो,
    हार्दिक शुभकामनाओं सहित...

    उत्तर देंहटाएं
  22. आप को सपरिवार नववर्ष 2011 की हार्दिक शुभकामनाएं .

    उत्तर देंहटाएं
  23. आपको और आपके परिवार को मेरी और मेरे परिवार की और से एक सुन्दर, सुखमय और समृद्ध नए साल की हार्दिक शुभकामना ! भगवान् से प्रार्थना है कि नया साल आप सबके लिए अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और शान्ति से परिपूर्ण हो !!

    उत्तर देंहटाएं
  24. बहुत कुछ आप अपनी सी लगती बातें कह गए।आभार। नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  25. बहुत खूब ...सोंचने को मजबूर कर देती है यह रचनाएं और आप भी ...
    शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  26. दोनो रंग सोचने को मजबूर करते हैं ...

    उत्तर देंहटाएं