रविवार, जून 17, 2012

फादर्स डे पर एक बाप की मज़बूरी



एक दिन एक रोजगार बाप ,
अपने बेरोजगार बेटे की
किसी बात पर खुश हो गया |
और अनजाने में अपनी उम्र
उसको लग जाने का ,
आशीर्वाद दे गया |
जब उसे कुछ ध्यान आया
तब वह कुछ
सोच कर पछताया
अगर वह अपनी ,
उम्र से पहले मर जायेगा |
तब उसका बेटा ,
भूख से मर जायेगा |


(पूर्व प्रकाशित रचना )


27 टिप्‍पणियां:

  1. आखिर बाप है न,बेटे के लिये सोचना उसका फ़र्ज़ बनता है,,,,

    RECENT POST ,,,,,पर याद छोड़ जायेगें,,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  2. जीवन के सहारों को तो बनाये रखना आवश्यक है..

    उत्तर देंहटाएं
  3. ओह ... बाप अंत समय तक बच्चों के लिए सोचता है

    उत्तर देंहटाएं
  4. पिता का मन ऐसा ही होता है !

    उत्तर देंहटाएं
  5. **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    *****************************************************************
    बेहतरीन रचना

    केरा तबहिं न चेतिआ,
    जब ढिंग लागी बेर



    ♥ आपके ब्लॉग़ की चर्चा ब्लॉग4वार्ता पर ! ♥

    ♥ संडे सन्नाट, खबरें झन्नाट♥


    ♥ शुभकामनाएं ♥
    ब्लॉ.ललित शर्मा
    **************************************************
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**

    उत्तर देंहटाएं
  6. भावमय करते शब्‍द ... आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. मार्मिक अभिव्यक्ति.........

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  8. भावपूर्ण अभिव्यक्ति माता पिता हमेशा या यूं कहने कि अपने अंत समय तक हमेशा खुद से पहले अपने बच्चों के बारे में ही सोचते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  9. मार्मिक ... बहुत ही अर्थपूर्ण रचना ... सार्थक कीर्ति हुयी पितृ दिवस कों ...

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह ...सत्य ..भावपूर्ण अभी व्यक्ति ...इस बाप बेटे के अनूठे रिश्ते की ...बहुत खूब

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहूत हि मार्मिक रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  12. पिता है ना, हर हाल में बच्चे के ही बारे में सोचता है।

    उत्तर देंहटाएं
  13. भावपूर्ण मार्मिक रचना अभिव्यक्ति ...आभार

    उत्तर देंहटाएं
  14. maa -pita aise hi hote hain .
    apni jivan ki antim saans tak vo apne bachche ki chinta kare hi rahte hain.
    bahut hi bhaukta se sarobaar prastuti
    sateesh bhai ji
    sadar naman
    poonam

    उत्तर देंहटाएं
  15. apane bachcho ke liye itani gaharai se mata ya pita hi soch sakate hai ,achchi rachana .
    pavitra .

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत ही मार्मिक एवं सारगर्भित प्रस्तुति। मेरे नए पोस्ट "अतीत से वर्तमान तक का सफर" पर आपका स्वागत है। धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  17. are hanse ki royen . pahli nazar me joke lagta hai.phir dhire dhire gahre pani paith. kya bat hai thode shabdon me bahut lapeta hai.

    उत्तर देंहटाएं