रविवार, अक्तूबर 20, 2013

मतला और एक शेर ...


क्यों तमाशायी भीड़ का हिस्सा बनें हैं आप 
अच्छा तो होगा, कोई किरदार आप भी निभा जाइये |
 
आनें जानें के दरमियां जो वक्त मिला है आपको 
जो दिलो दिमाग पर छा जाये, कोई ऐसा काम कर जाइये | 

6 टिप्‍पणियां: